Ad

ads ads

Breaking News

दिनेश कार्तिक ने धोनी को बताया टॉपर

चेन्नई दिनेश कार्तिक भले ही बांग्लादेश के खिलाफ त्रिकोणीय टी20 फाइनल में आठ गेंदों पर नाबाद 29 रन बनाकर देश भर में चर्चा का विषय बने हुए हैं लेकिन इस विकेटकीपर बल्लेबाज का कहना है कि जब ‘सर्वश्रेष्ठ फिनिशर’ की बात आती है तो वह अभी खुद को ‘विश्वविद्यालय का छात्र’ मानते हैं जबकि महेंद्र सिंह धोनी ‘टॉपर’ हैं। कार्तिक ने संवाददाताओं से कहा, ‘जब धोनी की बात आती है तो मैं अभी विश्वविद्यालय में पढ़ रहा हूं जबकि वह टॉपर है। वह ऐसा खिलाड़ी है जिसका मैं हमेशा अनुसरण करता हूं। उनके साथ तुलना अनुचित होगी।’ 
दिलचस्प बात यह है कि कार्तिक ने सितंबर 2004 में इंग्लैंड में चैंपियन्स ट्राफी के दौरान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था जबकि धोनी ने इसके तीन महीने बाद दिसंबर में बांग्लादेश के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था।  अगले 14 वर्षों में धोनी भारत के सबसे सफल कप्तान और सीमित ओवरों के सफल क्रिकेटर बने गये जबकि कार्तिक जूझते रहे और मौके का इंतजार करते रहे। कार्तिक ने कहा, ‘उनका (धोनी) करियर पूरी तरह से अलग था और मेरा करियर पूरी तरह से अलग है। वह बेहतरीन खिलाड़ी है। वह काफी शर्मीला था। आज वह ऐसा व्यक्ति है जो युवाओं की मदद के लिये खुलकर बोलता है। मेरा मानना है कि इस तरह की तुलना पूरी तरह से अनुचित है। जैसे मैंने कहा कि वह संभवत: विश्वविद्यालय का टॉपर है जबकि मैं अभी पढ़ रहा हूं। मैं जिस स्थिति में हूं उससे खुश हूं।’ पिछले डेढ़ दशक से खेल रहे कार्तिक को आखिर में वह चर्चा मिली जिसके वह वास्तव में हकदार थे। इसे वह अपने अच्छे कर्म और ईश्वर की कृपा मानते हैं। कार्तिक ने कहा, ‘सभी मेरे बारे में बात कर रहे हैं और इससे अच्छा लग रहा है। मैंने वर्षों में जो अच्छे काम किये उससे मुझे वह छक्का जड़ने में मदद मिली। वह शॉट छक्के के लिये चला गया। संभवत: दो मिमी अतिरिक्त से वह छक्का बन गया।’
उन्होंने कहा, ‘मेरे लिये उसे शब्दों में बयां करना मुश्किल है। मैं यह खेल खेलकर खुश हूं। जब आप घरेलू क्रिकेट खेलते हो तो यह कठिन दौर होता है। अचानक इस तरह से चर्चा में आने से अच्छा लग रहा है लेकिन आप यह भी जानते हो कि आप चाहते हो कि कुछ विशेष की शुरुआत हो।’