Ad

ads ads

Breaking News

इन कारणों से ढह गया योगी का किला

डेस्क : 30 साल बाद गोरखपुर में योगी आदित्यनाथ का किला ढह गया है,गोरखपुर उपचुनाव के नतीजों ने यूपी की सियासत में ये बड़ा उलटफेर किया है। योगी आदित्यनाथ लगातार 5 बार गोरखपुर से सांसद का चुनाव जीतते रहे,बीजेपी की इस करारी हार के बाद सबसे बड़ा सवाल है कि आखिर बीजेपी की यह स्थिति कैसे हुई?
शायद यही कारण रहें हैं जिससे बीजेपी का किला ढह गया।

योगी का किला ढहने की पहली वजह
समाजवादी पार्टी ने निषाद समाज के प्रवीण निषाद को उम्मीदवार बनाया, गोरखपुर में निषाद समाज के सबसे ज्यादा 3.5 लाख वोटर हैं. यादव और दलितों की संख्या 2 लाख है।गोरखपुर में ब्राह्मणों की संख्या 1.5 लाख है, ये पहले से तय था कि निषाद को यादव, मुस्लिम और दलित वोटर का साथ मिलने पर बड़ा उलटफेर हो सकता है।

योगी का किला ढहने की दूसरी वजह
गोरखपुर के शहरी इलाकों में कम वोटिंग हुई. गोरखपुर में कुल 47.45% वोट पड़ा. जिसमें कैम्पियरगंज में 49.43%, पिपराईच में 52.24% गोरखपुर ग्रामीण में 47.74%, गोरखपुर शहर में 37.36% और सहजनवा में 50.07% मतदान हुआ. इसका मतलब गोरखपुर शहरी वोटर योगी को वोट देने के लिए घरों से निकला ही नहीं।

योगी का किला ढहने की तीसरी वजह
गोरखपुर में बीजेपी की हार की मुख्य वजह सपा और बसपा का गठबंधन भी रहा। मायावती ने अखिलेश यादव को समर्थन देते हुए अपना प्रत्याशी ही नहीं उतरा। इसका असर भी दिखा, अखिलेश यादव जीत का गुलदस्ता देने मायावती के घर भी गए,दोनों नेताओं के बीच करीब 45 मिनट की मुलाकात चली।

No comments