Ad

ads ads

Breaking News

सुप्रीम कोर्ट ने वृंदावन के मंदिरों को दिया आदेश

नई दिल्ली - विधवाओं की आजीविका में सहयोग के लिए मथुरा और वृंदावन के मंदिरों को सुप्रीम कोर्ट की ओर से मंगलवार को निर्देश जारी किया गया। जारी निर्देश के तहत कोर्ट ने कहा है कि मंदिर में चढ़ने वाले फूलों को विधवाओं के लिए चलाए जा रहे आश्रमों को दे दिया जाए ताकि इससे वे परफ्यूम तथा धूप अगरबत्‍तियां आदि बनाकर अपनी आजीविका चला सकें।
इससे पहले आई खबर के अनुसार इन महिलाओं को फ्रेगरेंस ऐंड फ्लेवर डिवेलपमेंट सेंटर (FFDC) कन्नौज में प्रशिक्षण दिलवाया गया। प्रशिक्षण के दौरान ही मंदिरों और विधवा आश्रम के बीच फूलों की आपूर्ति का अनुबंध भी हुआ। महिला एवं बाल कल्याण विभाग की प्रमुख सचिव रेणुका कुमार ने बताया कि ब्रजगंधा नाम रजिस्टर्ड करवा लिया गया है। इसकी टेस्टिंग का सर्टिफिकेट भी FFDC ने दिया है। इसमें 79 प्रतिशत तक विशुद्ध फूलों की महक है
बता दें कि एफएफडीसी से ट्रेनिंग के बाद विधवाओं ने मंदिरों में चढ़े फूलों से इस इस बार होली में तकरीबन 100 किलो गुलाल बनाया था। यह गुलाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत प्रदेश सरकार के सभी मंत्रियों को भी भेजा गया था।