Ad

ads ads

Breaking News

पति के गुजर जाने के बाद भी जरूरतमंदो को समर्पित दर्शन नारवाल बनी प्रेरणाश्रोत

डेस्क - दुनिया में अधिकतर लोग सिर्फ अपने लिए कमाई करते हैं। लेकिन समाजसेवा करने वाले भी बहुत मिलते हैं पर ऐसे लोग विरले हैं जिनकी जिंदगी का मकसद ही समाजसेवा है। शहर के गुरुनानक चौक  पास रहने वाली दर्शन नारवाल (70) की कहानी कुछ ऐसी ही है। दर्शन ने समाज के लिए बहुत कुछ किया। इनके पति एयर फोर्स में पायलट थे। पहले ये और इनके पति दोनों मिलकर समाजसेवा का कार्य किया करते थे। दस साल पहले पति के गुजर जाने के बाद इन्होंने समाजसेवा को अपना जीवन बना लिया। दर्शन बताती हैं कि उन्हें जो पेंशन मिलती है उस पैसे से वे समाज के बच्चों के लिए कुछ न कुछ करती रहती हैं। इनका सड़क पर रेडियम लगाने का काम बहुत ही सरानीय कार्य  है। जिन जगहों पर लगातार एक्सीडेंट होते रहते हैं। वहां ये रेडियम लगाने का काम किया करती हैं। समाज के प्रति इनके कई योगदान हैं। बच्चों को पढ़ाई के लिए उत्साहित करना जरूरतमंद लोगों को रोजगार की व्यवस्था कराना। इन्होंने कई बच्चों की स्कूल फीस अपने पेंशन के पैसे से भरी है। दीवाली में कई बार गरीबों को पहनने के लिए चप्पल और घर में  रोशनी  करने के लिए दीए जैसे अनेक कार्य समाज के लोगों के लिए करती रहती हैं। दर्शन नारवाल बताया कि मैं और मेरे पति दोनों मिलकर समाजसेवा किया करते थे। समाज के जरूरतमंद लोगों के लिए जितना हमसे हो सके हम करें इनके पति का ऐसा मानना था। दर्शन ने कहा कि उनके जाने के बाद मैं उनकी इस इच्छा को हमेशा पूरी करने की कोशिश करती हूं। समाज के जरूरत मंद लोगों के लिए मुझसे जो कुछ भी बन सकेगा मैं अपनी पूरी जिंदगी करती रहूंगी।
 

No comments