Ad

ads ads

Breaking News

गले में फांसी का फंदा डाला स्वास्थ कर्मियों ने

सागर(म.प्र) - संविदा स्वास्थ कर्मियों की बेमियादी हड़ताल के 33 वें दिन भी कर्मियों का हौसला कमजोर नहीं हुवा शहीदी दिवस के दिन हड़ताली कर्मियों ने अपने गले में फ़ासी का फंदा डाल कर शिवराज सरकार का ध्यान अपनी ओर आकृष्ट करने का प्रयास किया , लेकिन सरकार के कानो में जूं तक नहीं रेंगा।
संविदा स्वास्थ कर्मचारी संघ मध्य प्रदेश के उपाध्यक्ष अमिताभ चौबे ने बताया की एक महीने से अधिक आन्दोलन चलते हो गया है लेकिन सूबे की सरकार का कोई भी जिम्मेदार व्यक्ति हम लोगों से बात करने नहीं आया है ,प्रदेश के 19000 संविदा स्वास्थ कर्मियों के सामने परिवार पलने का संकट है।  शिवराज सरकार की असंवेदनशीलता ने वर्षो से कर्मियों के हो रहे शोषण पर नमक छिड़कने का कार्य किया है।
संघ के जिलाध्यक्ष अनुज सैनी ने बताया की हमने सरकार को अपनी पीड़ा से कई बार अवगत कराया लेकिन सरकार  अड़ियल और संवेदनहीन रवैये पर अड़ी है।
कार्यक्रम को डॉ एन एन राजपूत,  राजेश श्रीवास्तव , सुशील सागर , ललित विश्वकर्मा , महेंद्र चंदेल, विकास दुबे ने संबोधित किया।
 कार्यक्रम में जितेंद्र,भीष्म, प्रमोद, मनीष,गौरव,नरेश,विनीता,माधवी,मुकेश सेन, गोविन्द,फारुख,वंदना,गीता,लक्ष्मी,सुनीता सहित सैकड़ो स्वास्थ कर्मी उपस्थित रहे।
... रिपोर्ट - हेमंत
सागर मध्यप्रदेश