Ad

ads ads

Breaking News

जनपद में मानवता को तार तार कर देने वाला मामला आया सामने

उन्नाव। एक ओर मानवता को तार तार कर देने वाला एक मामला जनपद में प्रकाश में आया है। जिसके चलते आम जनपदवासी अवाक सा रह गया हैं मामला हैं थाना क्षेत्र अजगैन का। जहाॅ कुल्हाड़ी मारकर गर्भ में 08 माह के पल रहे शिशु की हत्या करने की कोशिश करने वाला नामजद अभियुक्त गर्भवती पीड़िता के पति को ही छेड़छाड़ का फर्जी आरोप लगाकर फंसा देने की दे रहा है धमकी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना अजगैन के अन्तर्गत मु0अ0सं0-46ध्2018 धारा-323 आईपीसी, 3(1)(द)(थ) एससी0ध्एसटी0 एक्ट थाना अजगैन के मुकदमे के विवेचना अधिकारी क्षेत्राधिकारी हसनगंज से नामजद अभियुक्त को गिरफ्तार करने की पीड़िता फरियाद ने की। पीड़िता अस्पताल में करा रही थी इलाज, उधर जांच करने घर पहुंची पुलिस ने किया अमानवीय बर्ताव, परिवार की लड़की को कहा सुअर- बोले कहा गई वो (पीड़िता)पीड़िता द्वारा पुलिस अधीक्षक को दिया गया यह शिकायती पत्र गर्भ से तेज ब्लीडिंग हो रही है। डाक्टरी के कागजात संलग्न हैं। 08 माह का बच्चा पेट में पल रहा है। चार-पांच लाते नामजद सुरेन्द्र यादव ने मारी जिसके कारण गर्भ से लगातार खून बह रहा है और हत्या करने के लिए कुल्हाड़ी मार दी। जिससे प्रार्थिनी का पैर कट गया है। 09-10 टांके लगे हैं। थाना पुलिस ने डाक्टरी करा ली है और मुकदमा दर्ज किया है लेकिन मुकदमे में गर्भ में पल रहे बच्चे की हत्या कर देने की कोशिश वाली धारा नहीं लिखी गई है। वहीं कानून के पहरेदारो के घिनौने बर्ताव के चलते पीड़िता भयभीत हैं। पीड़िता के अनुसार वह चाहती है ंकि अभियुक्त को धारा बढ़ाते हुए मुकदमे के नामजद अभियुक्त को गिरफ्तार जेल भेजे जाने का आदेश दिया जाए। ताकि वह भयमुक्त अपना जीवन निर्वहन कर सके। वहीं सूत्रों के अनुसार सीओ हसनगंज द्वारा विवेचना की जा रही है।
मु0अ0सं0-46ध्2018 धारा-323 आईपीसी व 3(1)(द),(थ) एससी एसटी एक्ट थाना अजगैन जिला उन्नाव उ0प्र0 के नामजद अभियुक्त सुरेन्द्र यादव पुत्र बासदेव यादव निवासी ग्राम गलियार गांव पकरा ने प्रार्थिनी के पति के साथ मारपीट की थी। जिसके खिलाफ प्रार्थिनी ने थाने में शिकायत की थी। की रंजिश मानते हुए प्रार्थिनी के घर में जबरियन घुस आए। प्रार्थिनी घर में अकेली थी। बाल पकड़कर गिरा दिया और गंदी-गंदी गालियां दी और कहा साली हरिजन चमार कहीं की तुम लोगों की इतनी हिम्मत की मेरे खिलाफ थाने में शिकायत करने पहुंच गई। बुरी तरह से मारने पीटने लगे। प्रार्थिनी के पेट में 08 माह का बच्चा पल रहा है। पेट में चार-पांच लातें सुरेन्द्र ने मारी तो प्रार्थिनी वहीं गिर गई और गर्भ से तेजी से खून निकलने लगा। प्रार्थिनी की हत्या करने के लिए कुल्हाड़ी से वार कर दिया। कुल्हाड़ी के वार से प्रार्थिनी का पैर कट गया है। प्रार्थिनी वहीं पर बेहोश होकर गिर गई। थाने में रिपोर्ट लिखाने का प्रार्थना पत्र दिया गया। थाने की पुलिस ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नवाबगंज में चोटों की डाक्टरी कराई। उसके बाद पेट में हो रहे असहनीय दर्द और तेजी से निकल रहे खून के कारण प्रार्थिनी बार-बार बेहोश हो जा रही थी। उसका अल्ट्रासाउण्ड जिला अस्पताल में पुलिस ने कराया है।
नामजद अभियुक्त सुरेन्द्र मुकदमे में सुलह लगाने की धमकी दे रहा है। पीड़िता कें अनुसार नामजद अभियुक्त सुरेन्द्र सुलह नहीं करने पर छेड़छाड़ का फर्जी आरोप लगवा कर पीड़िता के पति को जेल भेज देने की धमकी दे रहा है। जिसके चलते पीड़िता भयभीत है।