Ad

ads ads

Breaking News

न्याय देने में पक्षपात बर्दाश्त नहीं- बार अध्यक्ष गिरीश कुमार मिश्र

उन्नाव। बार एसोसिएशन की शुक्रवार को बुलाई गई आपात बैठक में अफसरों के रवैए पर नाराजगी जाहिर की गई। साथ ही निर्णय लिया गया कि शनिवार को होने वाली बैठक में निर्णायक लड़ाई का ऐलान किया जाएगा।
बार एसोसिएशन अध्यक्ष गिरीश कुमार मिश्र की अध्यक्षता में हुई बैठक में कहा गया कि न्याय देने में पक्षपात बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। संचालन कर रहे बार महामंत्री सुशील कुमार शुक्ल ने कहा कि अमर्यादित भाषा का प्रयोग वकील बर्दाश्त नहीं करेंगे। आक्रोशित 200 अधिवक्ताओं द्वारा हस्तांतरित मांग पत्र में लिखी बातों का समर्थन करते हुए सर्वसम्मति से उक्त मांग पत्र को सदन में चर्चा कराए जाने का सुझाव रखा, जिसे सर्वसम्मति से अध्यक्ष ने 3 फरवरी शनिवार को साढ़े 10 बजे साधारण सभा की बैठक में मांग पत्र को विचारार्थ रखने का प्रस्ताव सदन में पारित किए जाने की घोषणा की।
बैठक में निर्णय लिया गया कि वकीलों के मान सम्मान के साथ किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। किसी भी प्रकार की अनैतिक अमर्यादित भाषा बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बैठक में प्रमुख रूप से विशेश्वर नाथ वाजपेई, मो. आमिर, प्रदीप कुमार शुक्ल, अनुभव शुक्ल, बृजेंद्र कुमार शुक्ल निराला, राहुल सिंह यादव, अमित दीक्षित, दुर्गाशंकर यादव, पप्पू लोधी, राजीव कुमार श्रीवास्तव, रूप नारायण सिंह, अजय सिंह परिहार, जयप्रकाश शुक्ल, योगेश कुमार पाण्डेय, कर्णबहादुर सिंह समेत अन्य वकील उपस्थित थे।