Ad

ads ads

Breaking News

अब ड्राइविंग लाइसेंस बनना हुआ, दैनिक कार्यों जैसा आसान

उन्नाव। एआरटीओ कार्यालय में दलालो पर नकेल कसने के साथ आवेदकों के कामों को आसान बनाने की योजना तेजी के साथ पूरी कराई जा रही है। कार्यालय के अंदर पहले जो बायोमैट्रिक कक्ष में लाइसेस जारी करने के लिए फोटो खीचने की प्रक्रिया होती थी। अब वह कार्रवाई बाहर से पूरी कराई जाएगी। इस कवायद का अहम मकसद दलालों की मनमाफिक आवाजाही पर अंकुश लगाना है।
इस नई व्यवस्था की शुरूआत जल्द करने के लिए तेजी के साथ पूरा कराया जाता रहा है। एआरटीओ प्रशासन अनिल त्रिपाठी व प्रवर्तन ओपी राजपूत ने कार्य स्थल पर खड़े होकर वर्करों से काम शीघ्र निपटाने का निर्देश दिया। आवेदकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए कमरे के बाहर परिसर से तीन सीढि़यों को बनवाया गया। जिनमें एक-एक आवेदक के फोटो खीचने का काम पूरा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कार्यालय में जिस काम को पूरा कराने के लिए भारी भीड़ जमा होती थी। उससे छुटकारा मिलेगा। साथ ही इस प्रक्रिया के लागू होने से आवेदकों के काम आसानी से पूरे कराए जा सकेंगे। इस दलालों की चहलकदमी पर नकेल कसी रहेगी। बताया कि काम लगभर पूरा करा लिया गया है। जिसे करीब एक सप्ताह के भीतर शुरू कर दिया जाएगा। इसके बाद अंदर से इस से आने वाले संबधित आवेदकों की इंट्री बंद कर दी जाएगी और बाहर से लाइसेंस बनाए जाएंगे।