Ad

ads ads

Breaking News

त्वरित न्याय को लेकर अधिकारियों के टालमटोल के चलते वकीलों ने जताया विरोध

उन्नाव। बार एसोसिएशन की साधारण सभा की बैठक में मंगलवार को एक अफसर की कार्यशैली से खफा वकीलों ने विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद एक कोर्ट के कार्यों का बहिष्कार भी किया।
बार एसोसिएशन अध्यक्ष गिरीश कुमार मिश्र की अध्यक्षता में हुई बैठक में डैस पर एक न्यायिक अफसर की अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने पर उनकी निंदा की गई। बैठक का संचालन कर रहे महामंत्री सुशील कुमार शुक्ल ने कहा कि जिन मामलों में लोगों को तुरंत न्याय मिल सकता है उसमें यह अफसर तीन चार दिन तक टालमटोल करते हैं। इसके बाद वकील की गैर हाजिरी में उसे खारिज कर देते हैं। कई जगह अवैध उगाही की जाती है। बार महामंत्री ने कहा कि इनकी शिकायत भारत के मुख्य न्यायमूर्ति के साथ इलाहाबाद उच्च न्यायालय के प्रशासनिक न्यायमूर्ति को लिखित तौर पर भेजी गई। जिसमें एक कोर्ट के बहिष्कार की जानकारी भी दी गई। प्रदर्शन में पूर्व अध्यक्ष सतीश दुबे, कमलेश सिंह, विशेश्वर नाथ वाजपेई, रामसुमेर सिंह, कर्ण बहादुर सिंह, रतीन्द्र प्रताप सिंह, राजेश सिंह, विजय तिवारी, पप्पू लोधी, महेंद्र सिंह चंदेल, दीप नारायण त्रिवेदी, एहतिशाम अली सिद्दीकी, मिर्जा सब्बीर बेग, अनुराग वाजपेई, महेंद्र सिंह टीटू, प्रदीप शुक्ल, अनुभव शुक्ल, अजय गौतम, रामप्रताप सिंह समेत अन्य अधिवक्ता शामिल रहेे।