Ad

ads ads

Breaking News

लखनऊ के शातिर शूटर को पुलिस ने किया गिरफ्तार

उन्नाव। शहर में दो गुटों के बीच चल रही रंजिश अब खूनी संघर्ष के मोड़ पर पहुंच गई है। एक गुट ने दुश्मनों को ठिकाने लगाने के लिए हत्या की सुपारी तक दे डाली। गनीमत रही कि पुलिस को इसकी भनक लग गई। पुलिस
ने लखनऊ में रहने वाले एक शूटर को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने शहर के कुछ युवकों को ठिकाने लगाने के लिए सुपारी देने बात कबूली। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने शहर के दो युवकों को हिरासत में लिया है। रविवार रात पुलिस ने सुपारी देने वाले के यहां भी दबिश दी लेकिन वह हाथ नहीं लगा। हालांकि पुलिस अभी मामले को पूरी तरह से दबाए है। सदर कोतवाल के अनुसार इस मामले में अभी कुछ अन्य युवकों की गिरफ्तारी होनी है। पूछताछ के बाद पूरे मामले का खुलासा किया जाएगा।
तीन दिन पहले शहर कोतवाली पुलिस ने लखनऊ से एक शातिर सुपारी किलर को गिरफ्तार किया था। मुखबिर के जरिये पुलिस को सूचना मिली कि शहर के कुछ लोगों ने शूटर को शहर में एक दो नहीं बल्कि चार लोगों की हत्या के लिए बीस लाख की सुपारी दी है। मामला जानकारी में आते ही पुलिस के पसीने छूट गए। पुलिस ने शूटर से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने साथ में काम करने वाले उन्नाव शहर के दो युवकों का नाम कबूले। इस पर पुलिस ने रातों रात दबिश देकर शहर के आवास विकास व अचलगंज के दरोगाखेड़ा से दोनों युवकों को उठा लिया। इन युवकों ने पूछताछ में बताया कि शहर के मोहल्ला मोतीनगर निवासी एक शातिर युवक ने पुरानी रंजिश में विरोधी गुट के चार युवकों की हत्या की सुपारी उनके माध्यम से लखनऊ के एक शूटर को दी थी। एक हत्या के पांच लाख रुपये सुपारी तय हुई थी। पांच लाख रुपये भी दे दिए हैं जबकि बाकी 15 लाख रुपये काम पूरा होने के बाद देने का वादा था। हत्या के लिए एक युवक की फोटो भी व्हाट्सएप के जरिये शूटर तक पहुंचाई जा चुकी है। आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने एक पिस्टल भी बरामद की है। शहर कोतवाल अरविंद सिंह ने बताया कि मामले की जांच अभी चल रही है। पकड़े गए युवकों ने कुछ लोगों के नाम बताए हैं। उन्हें गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी जा रही है। उनकी गिरफ्तारी और पूछताछ के बाद ही पूरी सच्चाई सामने आएगी।